BNS 47 in Hindi & English | Know in Easy Language

Bharatiya Nyaya Sanhita 47 in Hindi – BNS 47 in Hindi

भारत से बाहर के अपराधी का भारत मैं दुम्प्रेरण- वह व्यक्ति इस संहिता के अर्थ के अन्तर्गत अपराध का दुष्प्रेरण करता है, जो भारत से बाहर और उससे परे किसी ऐसे कार्य के किए जाने का भारत में दुष्प्रेरण करता है। जो अपराध होगा, यदि भारत में किया जाए।

दृष्टात- क भारत में ख को, जो एक्स में विदेशीय है, उस देश में हत्या करने के लिए उकसाता है, क हत्या के दुष्प्रेरण का दोषी है।

Bharatiya Nyaya Sanhita 47 in English – BNS 47 in English

Abetment in India of offences outside India- A person abets an offence within the meaning of this Sanhita who, in India, abets the commission of any act without and beyond India which would constitute an offence if committed in India.

Illustration- A, in India, instigates B, a foreigner in country X, to commit a murder in that country,
A is guilty of abetting murder.

Rate this post
See also  भारतीय न्याय संहिता 22 क्या है? - Bharatiya Nyaya Sanhita 22 in Hindi & English
Share on:

Leave a comment