आईपीसी धारा 22 क्या है? । IPC Section 22 in Hindi । उदाहरण के साथ

आज मैं आपके लिए भारतीय दंड संहिता (IPC Section 22 in Hindi) की धारा 22 की जानकारी लेकर आया हूँ, पिछली पोस्ट में हमने आपको आईपीसी (IPC) की काफी सारी धाराओं के बारे में बताया है। अगर आप उनको पढ़ना चाहते हो तो आप पिछले पोस्ट पढ़ सकते है। अगर आपने वो पोस्ट पढ़ ली है तो, आशा करता हूँ की आपको वो सभी धाराएं समझ में आई होंगी । अब बात करते है, भारतीय दंड संहिता  (IPC) की धारा 22 क्या होती है?

IPC Section 22 in Hindi
IPC Section 22 in Hindi

भारतीय दंड संहिता (IPC Section 22 in Hindi) की धारा 22 क्या होती है?

“ जंगम सम्पत्ति शब्दों से यह आशयित है कि इनके अन्तर्गत हर भांति की मूर्त सम्पत्ति आती है, किन्तु भूमि और वे चीजें, जो भू-बद्ध हों या भू-बद्ध किसी चीज से स्थायी रूप से जकड़ी हुई हों, इनके अन्तर्गत नहीं आती। ”

“ The words “moveable property” are intended to include corporeal property of every description, except land and things attached to the earth or permanently fastened to anything, which is attached to the earth. ”


Also Read –IPC Section 20 in Hindi


धारा 22 क्या है?

ऊपर जो IPC Section 22 की डेफिनेशन दी गयी है, वो कानूनी भाषा में दी गयी है, शायद इसको समझने में परेशानी आ रही होगी। इसलिए इसको मैं थोड़ा सिंपल भाषा का प्रयोग करके समझाने की कोशिश करता हूँ। IPC Section 22 को सरल शब्दों में समझाता हूँ । IPC Section 22  कि कोई भी ऐसी प्रॉपर्टी जिसको एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाया जा सके। जिसको हम महसूस कर सकें जो कि एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाए जा सके। जैसे कि Tv हो गया, fridge हो गया, bike हो गई car हो गई, सोना चांदी, पैसा कुछ भी कोई भी किसी भी तरीके की प्रॉपर्टी हो, जिसको हम एक जगह से दूसरी जगह पर ले जा सकते हैं। अब यहां पर अपवाद भी है। Except land मतलब land को छोड़कर ज़मीन को छोड़ कर क्योंकि ज़मीन एक जगह से दूसरी जगह पर नहीं जा सकती है। Except land and things attached to the earth मतलब ऐसी चीज़ें जो कि earth के साथ, ज़मीन के साथ, धरती के साथ जुड़ी हुई हैं। उनको छोड़कर क्योंकि जो धरती के साथ चीज़ें जुड़ी हुई है, उनको एक जगह से दूसरी जगह पर हम नहीं ले जा सकते। हर वो संपत्ति है जो एक जगह आपसे दूसरी जगह पर ले जाइ जा सकती है। उसको कहेंगे चल संपत्ति जो चल सकती है। और जिसका कोई आकार है, जिसको हम physical रूप से टच कर हैं। महसूस कर सकते हैं, देख सकते हैं। वह हुई property ओर वो property चल संपत्ति में आएगी। लेकिन ज़मीन चल संपत्ति नहीं है। क्योंकि वह एक जगह से दूसरी जगह पर नहीं ले जाए जा सकती। ज़मीन को छोड़कर कर और उन चीज़ों को छोड़कर कर जो कि ज़मीन के साथ जुड़ी हुई हैं। जैसे कोई पेड़ हो गया या कोई भी चीज़ जो ज़मीन के साथ जुड़ी हुई है। वह चल संपत्ति नहीं है। ओर वो permanently तरीके से ज़मीन के साथ जुड़े हुई हैं। कहने का मतलब यह है, कि कोई भी ऐसी संपत्ति जो या तो ज़मीन है, या फिर ज़मीन के साथ जुड़ी हुई है। permanently तरीके से किसी भी तरीके से तो उसको चल संपत्ति नहीं बोला जाएगा। उसके अलावा जितनी भी चीज़ें हैं। वह सारी move property हैं। क्योंकि वह move कर सकती हैं। जिनको हम touch कर सकते हैं, physical तौर पर देख सकते हैं। महसूस कर सकते हैं। ओर एक जगह से दूसरी जगह पर ले जा सकते हैं। उम्मीद करता हूं। आपको भारतीय दंड संहिता (Indian Penal Code) के Section 22 समझ में आ गयी होगी। मैंने इसको सिंपल शब्दों में समझाने की कोशिश की है, अगर फिर भी कोई Confusion रह गई है, तो आप कमेंट बॉक्स में क्वेश्चन कर सकते है। मुझे आंसर देने में अच्छा लगेगा। 

मैंने भारतीय दंड संहिता IPC Section 22 को सिंपल तरीके से समझाने की कोशिश की है। मेरी ये ही कोशिश है, की जो पुलिस की तैयारी या लॉ के स्टूडेंट है, उनको IPC की जानकारी होनी बहुत जरुरी है। ओर आम आदमी को भी कानून की जानकारी होना बहुत जरुरी है।

See also  IPC 144 in Hindi- धारा 144 क्या है? सजा, जमानत और बचाव
4.3/5 - (6 votes)
Share on:

Leave a comment