आईपीसी धारा 23 क्या है? । IPC Section 23 in Hindi । उदाहरण के साथ

आज मैं आपके लिए भारतीय दंड संहिता (IPC Section 23 in Hindi) की धारा 23 की जानकारी लेकर आया हूँ, पिछली पोस्ट में हमने आपको आईपीसी (IPC) की काफी सारी धाराओं के बारे में बताया है। अगर आप उनको पढ़ना चाहते हो तो आप पिछले पोस्ट पढ़ सकते है। अगर आपने वो पोस्ट पढ़ ली है तो, आशा करता हूँ की आपको वो सभी धाराएं समझ में आई होंगी । अब बात करते है, भारतीय दंड संहिता   (IPC) की धारा 23 क्या होती है?

IPC Section 23 in Hindi
IPC Section 23 in Hindi

भारतीय दंड संहिता (IPC Section 23 in Hindi) की धारा 23 क्या होती है?

“ सदोष अभिलाभ – सदोष अभिलाभ विधिविरुद्ध साधनों द्वारा ऐसी सम्पत्ति का अभिलाभ है, जिसे प्राप्त करने वाला व्यक्ति वैध रूप से उसका हकदार न हो। ”

“ सदोष हानि – सदोष हानि विधिविरुद्ध साधनों द्वारा ऐसी सम्पत्ति की हानि है, जिस हानि को उठाने वाला व्यक्ति वैध रूप से उसका हकदार हो। ”

“ “Wrongful gain”.–“Wrongful gain” is gain by unlawful means of property to which the person gaining is not legally entitled. ”

“ “Wrongful loss”.–“Wrongful loss” is the loss by unlawful means of property to which the person losing it is legally entitled. Gaining wrongfully.”

“ Gaining wrongfully /Losing wrongfully.–A person is said to gain wrongfully when such person retains wrongfully, as well as when such person acquires wrongfully. A person is said to lose wrongfully when such person is wrongfully kept out of any property, as well as when such person is wrongfully deprived of property. ”


Also Read –IPC Section 21 in Hindi

See also  IPC 380 in Hindi- निवास-गृह, आदि में चोरी करने पर सजा- जमानत और बचाव

धारा 23 क्या है?

ऊपर जो IPC Section 23 की डेफिनेशन दी गयी है, वो कानूनी भाषा में दी गयी है, शायद इसको समझने में परेशानी आ रही होगी। इसलिए इसको मैं थोड़ा सिंपल भाषा का प्रयोग करके समझाने की कोशिश करता हूँ। IPC Section 23 को सरल शब्दों में समझाता हूँ । 

Wrongful gain :- जब कोई गैर कानूनी तरीके से किसी property को gain करता है। जिसका वह legally रूप से मालिक नहीं है। उस property पर कानूनी तौर पर उसका कोई हक नहीं है। Property कोई भी हो सकती है। ज़रूरी नहीं है, कि ज़मीन ज़्यादा ही हो कुछ भी हो सकता है। जैसे सोना, चांदी, पैसा किसी भी तरीके की कोई भी properties हो सकती है। तो वह legally रूप से उसका हक़ हकदार नहीं है। लेकिन फिर भी वो उस को unlawful तरीके से कब्ज़ा कर लेता है। तो उसको Wrongful gain कहा जाएगा। आपको clear हो गया होगा, कि अगर कोई गैर कानूनी तरीके से किसी property को gain करता है। मतलब ले लेता है। जिसका वह हक़ हकदार नहीं है। उस पर कब्ज़ा कर लेता है। वह लीगली तौर पर, कानूनी तौर पर हक़दार नहीं है।

Wrongful loss :- यह बिल्कुल उसका उल्टा है। किसी property का कोई आदमी कानूनी तौर पर हक दार था। लेकिन वह property अलग तरीके से, unlawful तरीके से उससे छीन ली गई। उसको Wrongful loss कहा जाएगा। इसका example देता हूं। मान के चलिए कोई सोने की चैन है। जो कि मेरे ऑफिस में मेरे टेबल पर रखी है। वह सोने की चैन मेरी है। मैंने उसको खरीदा है। मेरे पास उसकी रसीद भी है। कोई व्यक्ति आया जिसने चोरी से उस chain को उठाया और अपनी जेब में डाल के वह चला गया। तो उस person का Wrongful gain हो गया। क्योंकि वह legally तौर पर, कानूनी तौर पर उसका हकदार नहीं था। लेकिन फिर भी वह ले गया। अपने कब्जे में उसने उसको रख लिया। उसका Wrongful gain हो गया। मेरा क्या हुआ unlawful loss हो गया। कि वह सोने की चैन कानूनी तौर मेरी थी। क्योंकि मैंने वो चैन खरीदी है। लेकिन किसी ने गलत तरीके से उस चैन को उठाया मुझ से दूर ले गए और मुझे उससे वंचित कर दिया। मेरा Wrongful loss हो गया।

See also  IPC 149 in Hindi- धारा 149 कब लगती है? सजा, जमानत और बचाव

Gaining wrongfully /Losing wrongfully :- इसमें बात की गई है retain करने की, और acquire की। retain का मतलब होता है, किसी चीज़ को अपने pass बनाए रखना। और acquire का मतलब होता है, किसी चीज़ पर कब्ज़ा कर लेना। कहने का मतलब यह है, कि जब कोई person गलत तरीके से, गैर-कानूनी तरीके से property को अपने pass बनाए रखता है। अपने पास retain करके रखता है। या फिर वो person उस property को acquire कर लेता है। उस पर कब्ज़ा कर लेता है। तब उसको Gaining wrongfully कहा जाएगा। अब बात करते हैं, Losing wrongfully की जब किसी person को गलत तरीके से उसकी properties से निकाल देना। दूर कर देना या मान के चलिए किसी की शॉप है। वह उसके नाम पर है legally तौर पर वह उसका मालिक है। लेकिन कोई गलत तरीके से उसकी शॉप पर कब्ज़ा कर लेता है। तो उसको Losing wrongfully कहा जाएगा। क्योंकि उसका असली मालिक तो वह है। लेकिन उसको बाहर कर दिया गया। उसकी shop से निकाल दिया गया। उसकी property से उसको out कर दिया गया।

मैंने भारतीय दंड संहिता IPC Section 23 को सिंपल तरीके से समझाने की कोशिश की है। मेरी ये ही कोशिश है, की जो पुलिस की तैयारी या लॉ के स्टूडेंट है, उनको IPC की जानकारी होनी बहुत जरुरी है। ओर आम आदमी को भी कानून की जानकारी होना बहुत जरुरी है।

2/5 - (3 votes)
Share on:

Leave a comment