आईपीसी धारा 7 क्या है? । IPC Section 7 in Hindi । उदाहरण के साथ

आज मैं आपके लिए भारतीय दंड संहिता (IPC Section 7 in Hindi) की धारा 7 की जानकारी लेकर आया हूँ पिछली पोस्ट में हमने आपको आईपीसी (IPC) की धारा 6 क्या है? इनके बारे में बताया था। आशा करता हूँ की आपको समझ में आया होगा। अब बात करते है, भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 7 क्या होती है?

IPC Section 7 in Hindi
IPC Section 7 in Hindi

भारतीय दंड संहिता (IPC Section 7 in Hindi) की धारा 7 क्या होती है?

“ हर वाक्यांश, जिसका स्पष्टीकरण इस संहिता के किसी भाग में किया गया है, इस संहिता के हर भाग में उस स्पष्टीकरण के अनुरूप ही प्रयोग किया गया है। ”

“ Every expression which is explain part of this Code, is used in every part of this Code in conformity with the explanation.”


Also Read – IPC Section 2 in Hindi


धारा 7 क्या होती है?

ऊपर जो IPC Section 7 की डेफिनेशन दी गयी है, वो कानूनी भाषा में दी गयी है, शायद इसको समझने में परेशानी आ रही होगी। इसलिए इसको मैं थोड़ा सिंपल भाषा का प्रयोग करके समझाने की कोशिश करता हूँ। IPC Section 7 को सरल शब्दों में समझाता हूँ कि Every Expression कि  कोई भी Expression कोई भी भाव कोई भी Word जब एक बार Explain कर दिया गया है इस Word का यह मतलब है तो पूरे Indian Penal Code में पूरी IPC में उस Word का मतलब वही माना जाएगा। ऐसा नहीं है, कि कभी किसी Word को किसी अलग तरीके से Explain करेंगे और IPC के किसी और Section में किसी अलग तरीके से Explain करेंगे। जब कोई Word एक बार Explain कर दिया गया IPC के किसी भी Section में तो पूरे Indian penal code में पूरी Ipc में उस Word का मतलब वही माना जाएगा। जैसे Example के तौर पर अगर कोई criminal नाम का जो Word है, अगर उसको एक बार Explain कर दिया गया Ipc के अंदर की किस व्यक्ति को Criminal कहा जाएगा। तो वह Criminal Word जब भी आएगा उसका मतलब वही माना जाएगा।

जो IPC Section 7 है, यही बताता है कि every expression which is explain in any part of the code. एक बार किसी Word को Expression को किसी भाव को एक बार explain कर दिया गया। तो Indian Penal Code के हर पार्ट में उसको उसी तरीके से समझा जाएगा। उसको बार अलग अलग तरीके से हम Explain नहीं करेंगे। अलग तरीके से Use नहीं करेंगे। एक बार किसी Word की परिभाषा दे दी गई या Define कर दिया गया। उसके बाद पूरी IPC के अंदर उसको वही माना जाएगा।

See also  IPC 360 in Hindi- भारत में से व्यपहरण की धारा 360- सजा, जमानत

मैंने भारतीय दंड संहिता IPC Section 7 को सिंपल तरीके से समझाने की कोशिश की है। मेरी ये ही कोशिश है, की जो पुलिस की तैयारी या लॉ के स्टूडेंट है, उनको IPC की जानकारी होनी बहुत जरुरी है। ओर आम आदमी को भी कानून की जानकारी होना बहुत जरुरी है।

4.2/5 - (13 votes)
Share on:

2 thoughts on “आईपीसी धारा 7 क्या है? । IPC Section 7 in Hindi । उदाहरण के साथ”

Leave a comment