भारतीय न्याय संहिता 72 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 72 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 72 in Hindi – BNS 72 in Hindi कतिपय अपराधों आदि से पीडित व्यक्ति की पहचान का प्रकटीकरण- (1) जो कोई किसी नाम या अन्य बात को, जिससे किसी ऐसे व्यक्ति की (जिसे इस धारा में इसके पश्चात् पीड़ित व्यक्ति कहा गया है) पहचान हो सकती है, जिसके विरुद्ध धारा 63, धारा … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 71 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 71 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 71 in Hindi – BNS 71 in Hindi पुनरावृत्तिक अपराधियों के लिए दंड- जो कोई, धारा 63 या धारा 64 या धारा 65 या धारा 66 या धारा 67 के अधीन दंडनीय किसी अपराध के लिए पूर्व में दंडित किया गया है और तत्पश्चात् उक्त धाराओं में से किसी के अधीन दंडनीय … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 70 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 70 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 70 in Hindi – BNS 70 in Hindi सामूहिक बलात्संग- (1) जहां किसी स्त्री से एक या अधिक व्यक्तियों द्वारा एक समूह गठित करके या सामान्य आशय को अग्रसर करने में कार्य करते हुए बलात्संग किया जाता है, वहां उन व्यक्तियों में से प्रत्येक के बारे में यह समझा जाएगा कि उसने … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 69 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 69 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 69 in Hindi – BNS 69 in Hindi प्रवंचनापूर्ण साधनों आदि से नियोजक द्वारा मैथुन- जो कोई प्रवंचनापूर्ण साधनों द्वारा या उसे पूरा करने के आशय के बिना स्त्री से विवाह करने के वचन द्वारा और ऐसे मैथुन बलात्संग की श्रेणी में नहीं आता है उसके साथ मैथुन करता है, तो वह … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 68 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 68 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 68 in Hindi – BNS 68 in Hindi प्राधिकार में किसी व्यक्ति द्वारा मैथुन– जो कोई,- (क) प्राधिकार की किसी स्थिति या वैश्वासिक संबंध रखते हुए, या (ख) कोई लोक सेवक होते हुए, या (ग) तत्समय प्रवृत्त किसी विधि द्वारा या उसके अधीन स्थापित किसी जेल, प्रतिप्रेषण-गृह या अभिरक्षा के अन्य स्थान … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 67 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 67 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 67 in Hindi – BNS 67 in Hindi पति द्वारा अपनी पत्नी के साथ पृथक्करण के दौरान या प्राधिकार में किसी व्यक्ति द्वारा मैथुन- जो कोई, अपनी पत्नी के साथ, जो पृथक्करण की डिक्री के अधीन या अन्यथा, पृथक रह रही है, उसकी सम्मति के बिना मैथुन करेगा, वह दोनों में से … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 66 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 66 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 66 in Hindi – BNS 66 in Hindi पीड़िता की मृत्यु या लगातार विवृतशील दशा कारित करने के लिए दंड- जो कोई, धारा 64 की उपधारा (1) या उपधारा (2) के अधीन दंडनीय कोई अपराध करेगा और ऐसे अपराध के दौरान ऐसी कोई क्षति पहुंचाएगा जिससे स्त्री की मृत्यु कारित हो जाती … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 65 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 65 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 65 in Hindi – BNS 65 in Hindi कतिपय मामलो में सामूहिक बलात्संग के लिए दंड- (1) जहां एक या अधिक व्यक्तियों द्वारा समूह गठित करके या सामान्य आशय को अग्रसर करने में कार्य करते हुए सोलह वर्ष से कम आयु की किसी स्त्री से बलात्संग किया जाता है, वहां उन व्यक्तियों … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 64 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 64 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 64 in Hindi – BNS 64 in Hindi बलात्संग के लिए दंड- (1) जो कोई, उपधारा (2) में उपबंधित मामलों के सिवाय, बलात्संग करेगा, वह दोनों में से किसी भांति के कठोर कारावास से, जिसकी अवधि दस वर्ष से कम की नहीं होगी, किन्तु जो आजीवन कारावास तक की हो सकेगी, दंडित … अधिक पढ़े…

भारतीय न्याय संहिता 63 क्या है? – Bharatiya Nyaya Sanhita 63 in Hindi & English

Bharatiya Nyaya Sanhita 63 in Hindi – BNS 63 in Hindi बलात्संग- यदि कोई पुरुष,- (क) किसी स्त्री की योनि, उसके मुंह, मूत्रमार्ग या गुदा में अपना लिंग किसी भी सीमा तक प्रवेश करता है या उससे ऐसा अपने या किसी अन्य व्यक्ति के साथ कराता है; या (ख) किसी स्त्री की योनि मूत्रमार्ग या … अधिक पढ़े…