सीमा हैदर के साथ क्या होगा जानिए भारतीय कानून?

सीमा हैदर के साथ क्या होगा जानिए भारतीय कानून? – दोस्तों, सीमा हैदर और सचिन दोनों की आजकल न्यूज़ ट्रेंडिंग में चल रही है। कभी आपने सोचा है, की क्या भारत में बिना पासपोर्ट के आना गैरकानूनी है? जी हाँ ये गैरकानूनी है, अगर ये गैरकानूनी नहीं होता तो कोई भी भारत में बिना पासपोर्ट के आ सकता है। अब आप सोच रहे होंगे की अगर ये गैरकानूनी है, तो सीमा हैदर के साथ क्या होगा? क्या इस मामले में सचिन भी फस सकता है? आज के आर्टिकल में हम बात करने वाले है, सीमा हैदर और सचिन की, क्या होगा सीमा हैदर का? भारतीय कानून क्या कहता है? ऐसी स्थिति के लिए हमारे देश में किस तरीके के कानून बनाए गए हैं? मेरा इरादा किसी को टारगेट करने का नहीं है, मैं केवल कानून के बारे में बता रहा हूँ।

sema haider ke sath kya hoga janiye bhartiye kanoon
sema haider ke sath kya hoga janiye bhartiye kanoon

सीमा हैदर के साथ क्या होगा जानिए भारतीय कानून?

दोस्तों, अगर कोई भी व्यक्ति (जैसे सीमा हैदर) हमारे देश में बिना पासपोर्ट के प्रवेश कर जाता है, या गैरकानूनी तरीके से प्रवेश कर जाता है। तो ये गैरकानूनी है, क्योकि हमारे देश में पासपोर्ट (भारत में प्रवेश) अधिनियम, 1920 बना हुआ है। जाहिर सी बात है, कुछ फॉर्मलिटीज है, कुछ दस्तावेज़ हैं, कुछ पेपर्स हैं या पासपोर्ट है। उनके प्रोसेस का इस्तेमाल करके आप भारत में आ सकते हैं। लेकिन अगर कोई व्यक्ति उल्लंघन करके बिना पासपोर्ट के हमारे देश में प्रवेश कर गया है, तो फिर ऐसे व्यक्ति को पासपोर्ट (भारत में प्रवेश) अधिनियम की धारा तीन के तहत कार्यवाही करके गिरफ्तार किया जा सकता है। उस व्यक्ति पर कार्यवाही की जा सकती है।

See also  Family Court Summons in Hindi- जाने सिंपल भाषा में

बिना पासपोर्ट के भारत में प्रवेश करने की क्या सजा है?

अगर कोई भी व्यक्ति हमारे देश में बिना पासपोर्ट के प्रवेश कर जाता है, तो ऐसे व्यक्ति को पासपोर्ट (भारत में प्रवेश) अधिनियम की धारा तीन के तहत पांच साल तक की सजा हो सकती है, या केवल फाइन हो सकता है, जोकि पचास हज़ार रुपए तक का हो सकता है, या फिर कोर्ट चाहे तो सजा और जुर्माना दोनों भी कर सकती है। ये जज साहब के विवेक पर डिपेंड करता है।

बिना पासपोर्ट वाले व्यक्ति की अगर कोई सहयता करता है, तो क्या होगा?

अगर किसी ने सपोर्ट (सहयता) कि है, जैसे सीमा हैदर भारत में बिना पासपोर्ट के आ गयी और उसकी सहयता सचिन ने की थी। तब ऐसे में IPC की धारा 120b भी लागु होगी। क्योंकि दोनों ने फ़ोन पर बात की, वो दोनों एक दूसरे के कनेक्शन में रहे, दोनों ने प्लानिंग की किस तरह से हमें आना है। तो IPC की धारा 120b में सचिन के खिलाफ भी सैम सेक्शन हिट हो जाएगा। क्योंकि उसने इस काम में षड्यंत्र रचा और जो सजा सीमा हैदर को मिलेगी वही सजा सचिन को भी मिल सकती है। यह सब IPC की धारा 120b कहती है।


Also Read –Dowry Case Alok Maurya Jyoti Maurya


इसके अलावा एक और कानून हमारे देश में है। जिसको हम पासपोर्ट अधिनियम 1967 कहते है। पासपोर्ट अधिनियम 1967 के अंदर सेक्शन 20 में बताया गया है, कि जो भारत का नागरिक नहीं है, उस व्यक्ति को नागरिकता दी जा सकती है। और केंद्र सरकार के पास यह शक्ति है, कि ऐसे व्यक्ति को लोगों के हित में नागरिकता दी जा सकती है। अब आप लोग मुझे कमेंट करके बताएं की क्या सीमा को नागरिकता देना लोगों हित में आएगा या नहीं आएगा? मुझे आपके कमेंट का इंतज़ार रहेगा।

See also  दल-बदल कानून क्या है?- Dal Badal Kanoon Kya Hai?

निष्कर्ष:

दोस्तों, मैंने केवल कानून बताया है, सीमा हैदर ने भारत में बिना पासपोर्ट के आकर सही किया या गलत किया इसपर न्यायालय फैसला करेगा। दोस्तों, आशा करता हूँ आपको दी गयी जानकारी समझ में आ गयी होगी। मेरी ये ही कोशिश है, की जो पुलिस की तैयारी या लॉ के स्टूडेंट है, उनको IPC की जानकारी होनी बहुत जरुरी है। ओर आम आदमी को भी कानून की जानकारी होना बहुत जरुरी है।

Rate this post
Share on:

Leave a comment