Suman vs tarun Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया श्रीमती सुमन बाला की ओर से विरूद्ध विपक्षी अंतर्गत धारा-१२ घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है कि प्रार्थिया का विवाह विपक्षी के साथ दिनांक … Read more

Chama Rani vs sanjeev Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया श्रीमती क्षमा रानी की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-१२ घरेलू हिंसा (Domestic Violence Act 2005) से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है कि प्रार्थिया की शादी … Read more

Kavita vs Gourav Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया श्रीमती कविता की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-12 घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत, धारा 18 के अधीन संरक्षण आदेश, धारा-19 के अधीन निवास हेतु आदेश, धारा-20 के अधीन आर्थिक अनुतोष तथा धारा-22 के अधीन प्रतिकर दिलाये जाने हेतु, यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक … Read more

Swati vs Sushobit Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया श्रीमती स्वाती की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-12 घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है कि प्रार्थिया का विवाह विपक्षी संख्या-1 के साथ दिनांक … Read more

Suman vs Ashok Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया श्रीमती सुमन व उसकी अवयस्क पुत्री कु० ध्रुवी व कु० दृष्टि की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-१२ घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है … Read more

Domestic Violence Judgement in Favour of Husband

How can a domestic violence case be dismissed? घरेलू हिंसा के मामले को कैसे खारिज किया जा सकता है?

Domestic Violence Judgement in Favour of Husband प्रार्थिया शिखा त्यागी की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-12 घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है कि प्रार्थिया … Read more

Pallawi vs Tarun Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया पल्लवी शर्मा की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-१२ घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है कि प्रार्थिया की शादी विपक्षी संख्या-१ के साथ दिनांक … Read more

Moni vs Deepchandra Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया श्रीमती मोनी की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-१२ घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है कि प्रार्थिया का प्रथम विवाह नीटू पुत्र बीर सिंह … Read more

Shaahana vs Ajijj Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया श्रीमती शहाना की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-१२ घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है कि प्रार्थिया की शादी विपक्षी अजीज सैफी के साथ … Read more

Khusnuma vs Pervez Domestic Violence Judgement

Domestic Violence

प्रार्थिया श्रीमती खुशनूमा की ओर से विरूद्ध विपक्षीगण अंतर्गत धारा-१२ घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत संरक्षण दिलाये जाने हेतु तथा भरण-पोषण के सम्बन्ध में अनुतोष प्राप्त करने हेतु यह प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया है। संक्षेप में प्रार्थना-पत्र का कथानक इस प्रकार है कि प्रार्थिया का निकाह विपक्षी संख्या-१ के साथ दिनांक … Read more